मोदी सरकार के गले की हड्डी बना सीएम योगी आदित्यनाथ का गोवंश प्रेम, चुनाव में नुकसान तय

दोस्तो नया साल आ चुका है और नया साल आने के साथ-साथ भाजपा के लिए नई चुनौती भी आ गई है, इस साल लोकसभा चुनाव भी होने हैं और लोकसभा चुनाव में जीत के लिए भाजपा को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। ऐसे में मोदी सरकार पूर्ण बहुमत की सरकार के साथ सत्ता में दोबारा वापसी करना चाहेगी, लेकिन बिना यूपी की जीत के साथ सत्ता में पूर्ण बहुमत के साथ आना नामुमकिन सा दिख रहा है। हाल ही में यूपी के कबीना मंत्री ने पत्रकारों के साथ चर्चा में यह माना है कि योगी का गोवंश प्रेम भाजपा के लिए मुसीबत बन सकता है।

खुले में घूम रहे हैं गोवंश

दरअसल भाजपा सरकार के लिए योगी आदित्यनाथ का गोवंश प्रेम इसलिए खतरे की घंटी है क्योंकि इस समय पूरे उत्तर प्रदेश में गोवंश खुलेआम घूम रहे हैं, जो कभी व्यस्त सड़कों पर आ जाते हैं तो कभी किसानों की फसलों को खा जाते हैं। जिसकी आलोचना भारतीय जनता पार्टी को झेलनी पड़ रही है, उत्तर प्रदेश के कई किसान गोवंश के खुलेआम घूमने पर नाराजगी जता चुके हैं क्योंकि इससे उनकी फसलें बर्बाद हो रही हैं।

खुद भाजपा सांसद ने मानी बड़ी परेशानी

गोवंश के खुलेआम घूमने को बड़ी समस्या मानने की बात किसी और ने नहीं बल्कि योगी आदित्यनाथ के करीबी और भाजपा के ही एक सांसद ने कही है। भाजपा सांसद के अनुसार योगी के गोवंश प्रेम के कारण यूपी के किसान नाराज हैं हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी में इस मुद्दे को लेकर चर्चा हो रही है। जल्दी पार्टी कोई उपाय ढूंढ लेगी, वहीं भाजपा के अन्य नेताओं का मानना है कि गौ रक्षा अपनी जगह ठीक है लेकिन मुख्यमंत्री जी को गौ रक्षा की नीति बनानी चाहिए तथा गोवंश के रहने खाने की व्यवस्था करनी चाहिए।

गौ वध के चक्कर में जा चुकी हैं कई जानें

अभी तक मिले आंकड़ों के अनुसार इतना तो तय है कि देश के कई राज्यों में कई लोगों ने गौ वध के आरोप में अपनी जान गवाई है। केंद्र सरकार ने भी गौ हत्या पर प्रतिबंध को लेकर इतनी सक्रियता नहीं दिखाई, जितनी दिखानी चाहिए थी। वहीं कुछ राज्यों में तो भीड़ ने लोगों को बेहद क्रूरता के साथ पीटकर मार डाला। वैसे आपको क्या लगता है गोवंश के खुलेआम घूमने पर सरकार को किस प्रकार की नीति बनानी चाहिए, कमेंट में हमें जरूर बताएं और इस खबर को शेयर करने का प्रयास करें इसी के साथ-साथ हमें फॉलो भी करें।

Disqus Comments