Sunday, August 18, 2019

Janmashtami 2019 : कब मनाए कान्हा का जन्म दिवस, जन्माष्टमी कब 23 या 24 अगस्त को

Janmashtami 2019 : दोस्तों इस साल ग्रह और नक्षत्रों की दिशा कुछ ऐसी है कि किसी को समझ में नहीं आ रहा है कि कृष्ण जन्माष्टमी (Janmashtami) 2019 कब है, जन्माष्टमी (Janmashtami) 23 अगस्त को मनाई जाएगी या 24 अगस्त को, इस बात को लेकर सभी के मन में शंका है। देश के अलग-अलग ज्योतिषाचार्य तिथि और नक्षत्र की वजह से जन्माष्टमी (Janmashtami) की तारीख बताने में संकोच कर रहे हैं।

दरअसल अगर भाद्रपद कृष्ण पक्ष अष्टमी की तिथि को देखें तो कृष्ण जन्माष्टमी (Janmashtami) 23 अगस्त को मनाई जाएगी। लेकिन मथुरा में कृष्ण जी का जन्मदिन रोहिणी नक्षण में मनाने की परंपरा चली आ रही है। इसी वजह से पूरे देश में उलझन है कि जन्माष्टमी का व्रत कब रखें और जन्मोत्सव कब मनाए।

Contents:
  • हिंदू धर्म में जन्‍माष्‍टमी का महत्‍व
  • जन्माष्टमी का व्रत
  • कब मनाए जन्माष्टमी 2019
happy janmashtami images

हिंदू धर्म में जन्‍माष्‍टमी का महत्‍व

हिंदू धर्म में श्री कृष्ण जन्माष्टमी को एक विशेष त्योहार माना जाता है इसलिए श्री कृष्ण जन्माष्टमी का एक विशेष महत्व है। यह हिन्‍दुओं के प्रमुख त्‍योहारों में से एक है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार श्री कृष्ण, भगवान विष्णु के आठवें अवतार बनकर धरती पर जन्मे थे।

इस पावन पर्व के दिन भारत के अलग-अलग राज्यों में जश्न का माहौल होता है, सभी लोग अपनी तरह से श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को मनाते हैं। कई जगहों पर दहीहांडी प्रतियोगिता भी होती है, दहीहंडी प्रतियोगिता का सबसे खूबसूरत नजारा महाराष्ट्र में देखने को मिलता है। वहीं, मंदिरों में झांकियां निकाली जाती हैं और स्‍कूलों में श्री कृष्ण के भजन कीर्तन होते हैं।

जन्माष्टमी का व्रत

जन्माष्टमी का व्रत रखने की परंपरा हिंदू धर्म में सदियों से चली आ रही है। इस दिन स्त्री-पुरुष रात्रि 12 बजे तक व्रत रखते हैं। जन्माष्टमी का व्रत रखने वाले भक्तों को उपवास के 1 दिन पहले केवल एक समय का हल्का भोजन करना चाहिए और ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए। श्री कृष्ण जन्‍माष्‍टमी के दिन सुबह-सुबह स्‍नान करने के बाद भक्‍त व्रत का संकल्‍प लेकर अगले दिन रोहिणी नक्षत्र और अष्‍टमी तिथि के खत्‍म होने के बाद व्रत खोल सकते हैं।

कब मनाए जन्माष्टमी 2019

ज्योतिष आचार्य द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार यह पता चला है कि जब रोहिणी नक्षत्र और अष्टमी तिथि दोनों साथ-साथ पड़े तो 23 अगस्त की तारीख उत्तम है। इसलिए 23 अगस्त को ही जन्माष्टमी मनाना शुभ होना चाहिए।

उम्मीद है कि आप को श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2019 से जुड़ी सारी जानकारी मिल गई होगी, अगर आपको यह खबर अच्छी लगी हो तो हमारे फेसबुक पेज को लाइक करना ना भूलें। धन्यवाद!

Read More:

Wednesday, August 7, 2019

Top 10 Health Tips in Hindi | टॉप 10 हेल्थ टिप्स हिंदी में

Health Tips in Hindi | हेल्थ टिप्स हिंदी में

Health Tip 1. सुबह 15 से 20 मिनट ज़रूर टहले

कहते हैं रोज़ सुबह टहलने से इंसान रोग मुक्त रहता है। दरअसल ये बात सच भी है अगर आप स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं तो उसके लिए घंटों तक दौड़ने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि रोज सुबह 15 से 20 मिनट टहलने से भी स्वस्थ रहा जा सकता है। टहलने से शरीर में हृदय रोग और हड्डियों से जुड़ी हुई बीमारियां नहीं होती, इसके अलावा मधुमेह जैसी घातक बीमारी के होने का खतरा भी बेहद कम हो जाता है।

सुबह का वातावरण ठंडा होता है, इसलिए ठंडे वातावरण में दौड़कर मस्तिष्क को तो आराम मिलता ही है इसके अलावा तनाव से मुक्ति प्राप्त होती है। टहलने से उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या से राहत मिलती है। रक्‍तचाप सामान्‍य रहता है और शरीर में रक्‍त-प्रवाह सुचारू रूप से होता है। टहलने के दौरान आपकी हर सांस आपके लिए सेहत लेकर आती है, क्योंकि इससे मोटापा नहीं बढ़ता और यदि मोटापा बढ़ चुका है तो धीरे-धीरे आपका मोटापा कम हो जाएगा और आप हेल्दी और फिट दिखने लगेंगे।


Health Tip 2. जंक फूड को कहे न

जंग फूड जितना बुरा बोलने और सुनने में लगता है, उससे कई गुना ज्यादा बुरा हमारे स्वास्थ्य के लिए है। जंक फूड खाना शरीर में मोटापे और बीमारियों को न्योता देने के बराबर है। यदि आप जंक फूड खाते हैं तो इसे खाना तुरंत बंद करें क्योंकि इससे हमारे शरीर को एक भी लाभ नहीं मिलता तथा शरीर में बीमारियों के लिए नए-नए द्वार खुल जाते हैं।

यह मनुष्य के शरीर के लिए एक अभिशाप की तरह है, नियमित रूप से जंक फूड खाने से मोटापा और पुरानी बीमारियों जैसे हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह और कुछ तरह के कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। जंक फूड में मौजूद वसा की उच्च मात्रा के कारण, यह गंभीर स्वास्थ्य परेशानियों की ओर जाता है।

Health Tip 3. सही समय पर करें भोजन

सही समय पर भोजन करना शरीर को संतुलित रखने में मदद करता है। सही समय पर भोजन करने से शरीर तनाव मुक्त रहता है और काम में मन लगता है।

खाना खाने का सही समय - Khana Khane Ka Sahi Samay


नीचे आपको नाश्ता करने से जुड़े कुछ उपयोगी टिप्स दिए गए हैं -
  • अपने नाश्ते में प्रोटीन को जरूर लें।
  • सुबह उठने के 30 मिनट बाद ही नाश्त करें।
  • सामान्यतः नाश्ता करने का सही समय सुबह 7 बजे माना जाता है। 

नीचे आपको दोपहर के खाने से संबंधित कुछ टिप्स बताए गए हैं -
  • नाश्ते और दोपहर के खाने में कम से कम 4 घंटे का अंतर रखें।
  • दोपहर का खाना शाम 4 बजे के बाद न खाएं।
  • दोपहर का भोजन करने का सही समय 12:45 माना जाता है।

नीचे आपको रात के खाने से संबंधित कुछ जरूरी टिप्स बताए गए हैं -
  • रात का भोजन 6 बजे से 8 बजे तक कर लेना चाहिए ।
  • रात का खाना खाने और सोने के बीच में कम से कम तीन घंटों का अंतराल जरूर रखें।
  • रात 10 बजे के बाद खाना नहीं खाना चाहिए।
  • सोने से कुछ समय पहले भोजन करने से आपको नींद आने में मुश्किल हो सकती है।

Health Tip 4. जायदा चटपटा खाना करें कम

भारत सहित कई एशियाई देश मसालों के लिए प्रसिद्ध हैं यहां मसालों की खेती के साथ-साथ चटपटे मसाले द्वारा निर्मित कई व्यंजन लोगों द्वारा पसंद किए जाते हैं लेकिन हाल ही में जरनल न्यूट्रिएंट्स में प्रकाशित हुए एक अध्ययन से पता चला है कि मिर्च का डिमेंशिया से संबंध होता है।

चटपटा खाने के बाद दूध पीना नुकसानदायक हो सकता है, ज्यादा मसालेदार और चटपटा भोजन करने से पेट में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है जिससे अल्सर जैसी समस्या भी हो सकती है। चटपटा भोजन करने के बाद दूध पीने से तो आपकी पाचन क्रिया प्रभावित हो सकती है। यहां तक कि खाने के बाद 15 मिनट तक तो आपको पानी तक नहीं पीना चाहिए। इससे भी पाचन क्रिया धीमी हो जाती है।

Health Tip 5. घर के आसपास जमा न होने दें पानी

अगर आप भारत में रहते हैं तो आप इस बात से भली-भांति परिचित होंगे कि बारिश के मौसम में मच्छरों के कारण होने वाली बीमारियां जैसे मलेरिया, जीका और डेंगू के मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ जाती है। यह केवल एक वजह से होता है, बारिश के मौसम में जगह-जगह पानी भर जाता है जिसके कारण मच्छरों को पनपने की जगह मिल जाती है।

Health Tip 6. चीनी का सेवन कम से कम करें

अधिक मात्रा में चीनी का सेवन करना मोटापे, टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग और कैंसर जैसी कई बीमारियों को आमंत्रित करने जाता है। आप जितनी चीनी कम खाएंगे उतने ही स्वस्थ रहेंगे, चीनी का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट व शरीर के हिस्से पर वसा एकत्रित हो जाती है, जिससे मोटापा, दांतों के सड़ने, डायबिटीज और इम्यून सिस्टम कमजोर होने जैसी समस्याएं होती हैं। चीनी का अधिक सेवन अधिक कैल्शियम सोखता है, जिससे बालों, हड्डियों, खून व दांतों पर असर पड़ता है। चीनी पाचन तंत्र को भी प्रभावित करती है।

Health Tip 7. ड्राई फ्रूट्स का सेवन जरूर करें

अधिक मात्रा में फैट होने के बावजूद ड्राई फ्रूट्स अविश्वसनीय रूप से पौष्टिक और स्वस्थ होते हैं। ड्राई फ्रूट्स जैसे - काजू, बादाम, किशमिश, खजूर, छुहारा, चिरौंजी, अखरोट, नारियल और मूंगफली आदि का सेवन हफ्ते में दो बार करना चाहिए। यह मैग्नीशियम, विटामिन ई, फाइबर और अन्य पोषक तत्वों से भरे हुए होते हैं।

Health Tip 8. पर्याप्त नींद लें

पर्याप्त नींद लेना हमारे शरीर और दिमाग दोनों के लिए ही लाभदायक होता है। खराब नींद इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ा सकती है, आपके भूख हार्मोन को कमजोर कर सकती है और आपके शारीरिक एवं मानसिक स्थिति पर प्रभाव डाल सकती है। खराब नींद वजन बढ़ाने और मोटापे के लिए जिम्मेदार होती है। सही नींद ना लेने से आंखों के नीचे काले धब्बे बढ़ने लगते हैं।

Health Tip 9. शरीर में पानी की कमी ना होने दें

पर्याप्त पानी पीने के कई फायदे हो सकते हैं। आश्चर्यजनक रूप से, यह आपके द्वारा जलाई जाने वाली 'कैलोरी' की संख्या को बढ़ा सकता है। दही पानी की समस्या को शरीर में से दूर रखने में अच्छा विकल्प होता है, इसमें पानी की मात्रा 85 प्रतिशत तक हो सकती है और शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्व भी पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते हैं। पानी की कमी होने से खतरनाक पदार्थ शरीर से बाहर नहीं निकल पाते जिसके कारण हमारे शरीर के अंदर बीमारियां घर बनाने लगती हैं। एक व्यक्ति को दिन में 7 से 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

Health Tip 10. सब्जियां और फल खाएं

सब्जियां और फल फाइबर, विटामिन, खनिज और कई एंटीऑक्सिडेंट से भरे होते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग सबसे अधिक सब्जियां और फल खाते हैं वे लंबे समय तक जिंदा रहते हैं और ऐसे लोगों में हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम होता है। फल और सब्जियां खाने वाले लोग हमेशा स्वस्थ रहते हैं। वैसे आपको बता दें आम दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला फल है, इसको फलों का राजा भी कहते हैं  लेकिन डॉक्टरों का सबसे पसंदीदा फल सेब माना जाता है।

Tuesday, August 6, 2019

Amazon Freedom Sale 2019: मोबाइल फोन, लैपटॉप और भी बहुत कुछ, जानिए क्या क्या मिल रहा है...

कुछ मह्त्वपूर्ण विशेषताएं

* अमेज़न फ्रीडम सेल ऑफर में लोकप्रिय स्मार्टफोन पर छूट शामिल होगी

* प्राइम मेंबर्स के लिए 7 अगस्त से बिक्री शुरू हो जाएगी

* अमेजन की फ्रीडम सेल 11 अगस्त तक चलेगी

Amazon Freedom Sale 2019

भारत में अगले सप्ताह आगामी 73 वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने के लिए शुरू होगा। अमेज़न की बड़ी बिक्री मोबाइल फोन, लैपटॉप, स्मार्ट टीवी, घरेलू उपकरणों, और बहुत कुछ पर छूट प्रदान करेगी। अमेजन इंडिया की फ्रीडम सेल 7 अगस्त को दोपहर 12 बजे से प्राइम मेंबर्स के लिए शुरू होगी। बाकी सभी के लिए, फ्रीडम सेल आधी रात, 8 अगस्त को खुलेगी। अमेज़न ने बैंक के क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को 10 प्रतिशत की तत्काल छूट देने के लिए भारतीय स्टेट बैंक के साथ करार किया है।ऑनलाइन मार्केटप्लेस ने पहले ही अपनी वेबसाइट पर एक टीज़र पेज बना रखा है।
इस मामले में कि आप बिक्री के लिए तत्पर हैं, हमने आपको एक त्वरित मार्गदर्शिका दी है जो आपको अभी जानने के लिए आवश्यक हर चीज के साथ मदद करेगी। Amazon Freedom Sale मोबाइल फोन पर उपलब्ध है। सभी प्रमुख बिक्री की तरह, Amazon Freedom Sale 2019 भारत में कई लोकप्रिय मोबाइल फोन पर छूट और बंडल ऑफर देगी। ऑनलाइन मार्केटप्लेस मोबाइल फोन और एक्सेसरीज पर 40 प्रतिशत तक की छूट के साथ-साथ नो कॉस्ट ईएमआई पेमेंट ऑप्शन और अन्य बंडल डील का वादा कर रहा है। प्रीमियम स्मार्टफोन रुपये तक की छूट के साथ उपलब्ध होंगे।
अमेज़न बिक्री के दौरान 20,000। वनप्लस 7 प्रो नो-कॉस्ट ईएमआई भुगतान विकल्प और सामान्य विनिमय मूल्य पर अतिरिक्त त्वरित छूट के साथ उपलब्ध होगा। Amazon Freedom Sale में गैलेक्सी एम 40 at 19,990 रुपये में 'बेस्ट ऑफर' कीमत पर भी दिया जाएगा। Amazon Freedom Sale 2019 सैमसंग M30, सैमसंग M20, Redmi Y3, 9,809, Redmi 7, 7,996, Nokia 6.1 Plus, Realme U1, और Honor View 20 पर 'सबसे कम कीमत' भी लाएगी। कंपनी भी एक बड़े पैमाने पर सैमसंग गैलेक्सी एस 10 के साथ एक्सचेंज ऑफर के साथ ओप्पो ए 7 पर कीमत में गिरावट।

रेलवे स्टेशन और ट्रेन में फ्री में मिलेगी वीडियो स्ट्रीमिंग की सेवा, फ्री में देख सकेंगे फिल्म और सीरियल

भारतीय रेलवे मुफ्त वीडियो स्ट्रीमिंग समाधान पेश करके यात्रियों की यात्रा को और अधिक मनोरंजक बनाने की योजना बना रहा है। हां, आप जल्द ही बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के उच्च गुणवत्ता वाली फिल्मों, टीवी श्रृंखला और अपने मोबाइल या टैबलेट पर समाचार जैसे वीडियो सामग्री को स्ट्रीम कर पाएंगे। सबसे अच्छी बात यह है कि यात्री नियमित रूप से इन-फ़्लाइट विमान मनोरंजन प्रणाली की तरह रेलवे स्टेशनों पर और साथ ही चलती ट्रेन में भी इस सेवा का आनंद ले सकेंगे। अब तक, ऑन-डिमांड कंटेंट स्ट्रीमिंग प्रोजेक्ट प्रारंभिक अवस्था में है और कोई भी शब्द नहीं है जब एक व्यापक रोलआउट की उम्मीद की जा सकती है।

Indian Railways Free Streaming यात्रियों को यह पसंद आएगा! जल्द ही, अपनी पसंदीदा फिल्मों, शो और संगीत को ट्रेनों और स्टेशनों पर स्ट्रीम करें, भारत सरकार के रेल और वाणिज्य और उद्योग मंत्री, पीयूष गोयल ने हाल ही में ट्वीट किया। रेल मंत्रालय ने कथित तौर पर रेलटेल का चयन किया है, जो उसके तत्वावधान में एक मिनी रत्न का परिचालन कर रही है और एक जो रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई प्रदान करती है, अपनी आगामी मुफ्त सामग्री स्ट्रीमिंग सेवा महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए। परियोजना के बारे में आधिकारिक जानकारी फिलहाल दुर्लभ है।

और पढ़ें:-

पायलट प्रोजेक्ट को कथित तौर पर उन रेलवे स्टेशनों में से एक में निष्पादित किया जाएगा जहां रेलटेल फ्री वाई-फाई सेवा उपलब्ध है। सामग्री के लिए, अभी तक किसी भी साथी की घोषणा नहीं की गई है, लेकिन यात्रियों के निपटान में मुफ्त सामग्री की सूची में फिल्में, संगीत वीडियो, टीवी श्रृंखला, भक्ति कार्यक्रम, लाइफस्टाइल शो, और बहुत कुछ शामिल होंगे। चलती ट्रेनों के लिए, बफर-फ्री स्ट्रीमिंग अनुभव की सुविधा के लिए मीडिया सर्वर रखकर सेवा प्रदान की जाएगी। परियोजना निश्चित रूप से महत्वाकांक्षी है, लेकिन भारतीय रेलवे इसे गैर-किराया राजस्व को जेब करने के अवसर के रूप में देख रहा है। यह निशुल्क सामग्री प्लेटफ़ॉर्म के लैंडिंग पृष्ठ पर और वीडियो के प्री-रोल में विज्ञापन रखकर पूरा किया जाएगा। कथित तौर पर यह परियोजना काफी समय से विकास में है और आखिरकार फलने के करीब आ रही है।

Monday, July 15, 2019

What is love in hindi ? !! Love Definition | प्यार क्या है ? !! प्यार की परिभाषा

जैसे-जैसे समय बदलता जा रहा है लोगों के रहन-सहन और उनके रवैए में परिवर्तन भी हो रहा है। परिवर्तन ने लोगों जिंदगी बदल के रख दी है। प्यार की परिभाषा में भी बदलाव आया अगर आप आज के समय किसी से पूछते हैं कि प्यार क्या है? (What is Love in Hindi?) तो उसका जवाब कुछ ही शब्दों में खत्म हो जाता है। लेकिन क्या है यह प्यार,इश्क, मोहब्बत? कुछ लोगों का कहना है कि प्यार एक एहसास है, कुछ मानते हैं कि प्यार खुशबू है, दर्द है, औेर कुछ के लिए जीने की वजह।

आज तक हमने प्यार की बहुत ही परिभाषाएं सुनी होंगी , पढ़ी होंगी और पिक्चर सीरियल में देखी भी होंगी। मगर क्या प्यार वाकई ऐसा ही होता है? आखिर क्या है प्यार? प्यार को समझने के लिए सबसे पहले मैं आपको बता दूं कि प्यार को हम शब्दों से बयां ही नहीं कर सकते!!! आज के आधुनिक युग में जितनी आधुनिक लोगों की जिंदगी हो चुकी है प्यार की परिभाषा में भी कुछ उसी तरह के बदलाव देखने को मिले हैं। प्यार को एक सीमित दायरे में देखा जाने लगा है (समझने वाले समझ चुके होंगे) जबकि प्यार उससे भी बढ़कर है तो दोस्तों इस लेख में हम आपको प्यार की सही परिभाषा बताएंगे, जानिए प्यार क्या है? (What is Love in Hindi?)
what is love

प्यार क्या है? | What is Love in Hindi?
सच्चा प्यार क्या है? | What is true Love?
प्यार एक क्रिया है | Love is an Action
आकर्षण से प्यार | Love From Attraction
प्यार की परिभाषा | Definition of Love
संदर्भ | References

प्यार क्या है? (What is Love in Hindi?)

प्यार एक ऐसा एहसास है जिसे शब्दों में नहीं बांधा जा प्यार। प्यार के लिए लोगों में बड़े-बड़े उदाहरण दिए जाते हैं जैसे लैला-मजनू, शिरीन-फरहान, राधा-कृष्ण, वगैरह-वगैरह। मगर ये कुछ ऐसे उदाहरण है जिनके बीच में प्यार तो था पर इनकी कहानी को वह मुकाम नहीं मिल सका।

प्यार कभी किसी नाम का मोहताज नहीं होता वह तो हर जगह मौजूद होता है। फिर वह भाई-बहन का प्यार हो मां-बाप का प्यार हो दोस्तों का प्यार हो या फिर पति-पत्नी का प्यार हो, प्यार "प्यार" होता है। हर तरफ सावन के महीने सा माहौल होता है। बॉलीवुड की फिल्मों की या टीवी सीरियल की बात की जाए तो प्यार की कई परिभाषाएं मिल जाएंगी - जैसे प्यार दोस्ती है ,प्यार जिंदगी है, वगैरह वगैरह। लेकिन असल में देखा जाए तो यह एक एहसास है जो सिर्फ प्यार करने वाला व्यक्ति ही समझ सकता है।

सच्चा प्यार क्या है? (What is true Love?)

"सच्चा प्यार" एक दीवानगी है जहां हमें लगता है हमारे कुछ भी करने से सामने वाले के चेहरे पर बस एक मुस्कान आ जाए जैसे:-
सच्चा प्यार एक एहसास है जो फूलों को खिलते हुए देखकर होता है।
बारिश की बूंदों को गिरते हुए देखना प्यार है।
जब हमसे कोई गलती हो जाती है और हमारे पापा हमें डांटते हैं उस डांट में सच्चा प्यार है।
सच्चा प्रेम वो खुशी है जब हमारी पहली सैलरी आती है और हम अपनी मां को देते हैं तो मां के चेहरे पर आती है।
जब कभी हमें चोट लग जाती है और हमारी मां हमारे खून देखकर हमसे ज्यादा पैनिक हो जाती है उस पैनिक में सच्चा प्यार है।
जब खाना बनाते वक्त हमारा हाथ जल जाता है और हमारी जलन देखकर मां हमें किचन से बाहर निकाल देती है, मां कि इस तकलीफ में सच्चा प्यार है।
जब हम अपनी कोई प्रॉब्लम अपने दोस्तों के साथ शेयर करते हैं और हमारे दोस्त प्रॉब्लम का सलूशन ना बता कर कोई जोक बना कर हंसने लगते हैं तो दोस्तों के उस मजाक में सच्चा प्यार है।
मंदिर के बाहर बैठे भिकारी बच्चे को कुछ पैसे देकर या कुछ खाने की चीज देकर उसके चेहरे पर आने वाली खुशी को देखना सच्चा प्यार है।

ऐसा कहा जाता है कि सच्चा प्यार सिर्फ नसीब वाले को ही मिलता है। ये सही भी है क्योंकि हम प्रेम को खोजने में लगे रहते हैं लेकिन ढुंढना तो उस चीज को पड़ता है जो खोई हो मगर प्यार तो हमेशा हमारे साथ रहता है। बस हर बार रूप अलग होते हैं।

प्यार एक क्रिया है! (Love is an Action!)

अब हम "प्यार क्या है (What is Love?)" के दूसरे भाग के बारे में जानेंगे, प्यार हर जगह है, अलग-अलग लोगो के लिए प्यार के अलग-अलग रूप पर अलग-अलग तरीके होते हैं। कहते हैं भगवान ने इस दुनिया में सभी के लिए किसी ना किसी को बनाया है। बस उनका मिलना अपने समय से होता है। हम अक्सर अपने जीवन में प्यार को ढूंढते रहते हैं और प्यार हमारे आसपास मौजूद होता है। भगवान की बनाई दुनिया में प्यार की कमी तो होती ही नहीं सकती। हम ही अपने दैनिक जीवन के कार्य में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि हमारे पास प्यार के लिए समय ही नहीं होता। जिंदगी अपनों के प्यार के साथ, उनके केयर और रिस्पेक्ट के साथ जीना प्यार है। किसी के लिए मुस्कुराना और किसी के लिए रोना प्यार है। दुनिया की हर वो चीज जिससे हमारे चेहरे पर खुशी आती है वह प्यार है, और जिसे देखकर हमारी आंखों में आंसू आ जाते हैं वह भी प्यार है।

आकर्षण से प्यार (Love From Attraction!)

जो प्यार आकर्षण से मिलता है वह अस्थायी होता है क्योंकि वह अनजान या सम्मोहन की वजय से होता है। इसमें आपका आकर्षण से जल्दी मोह भंग हो जाता है और आप दूरी बनाने लगते हैं। यह प्यार धीरे धीरे कम होने लगता हैं और भय, अनिश्चिता, असुरक्षा और उदासी लाता है।

जो प्यार आकर्षण से होता है उसमें एक दूसरे के लिए रोना, मुस्कुराना नहीं होता है बल्कि केवल कुछ ही पलों का आनंद होता है, उसके बाद जैसे-जैसे समय बीतता जाता है प्यार खत्म होता जाता है। इस तरह का प्यार कुछ दिन या कुछ महीनों तक ही टिक पाता है। इसलिए इस तरह के प्यार से सावधान रहना ही जिंदगी में सफलता प्राप्त करने योग्य है।

प्यार की परिभाषा (Definition of Love!)

प्यार की परिभाषा को समझना और समझाना बेहद मुश्किल है, दरअसल प्यार एक अहसास है इसलिए इसको शब्दों में बयान करना इंसान के लिए थोड़ा मुश्किल है लेकिन हां अगर आप प्यार की परिभाषा(Definition of Love in hindi!) को शब्दों में किसी को समझना चाहें तो हर सवाल का अंतिम उत्तर है प्यार।

संदर्भ (References)

हमारे दिल को महसूस होने वाले हर भाव में प्यार है। जिंदगी का हर लम्हा अपनों के लिए जीना, अपनों के साथ अपनों कि खुशी और गम का साथी बनकर जीना प्यार है। पति-पत्नी के रिश्ते को ईमानदारी से निभाना प्यार है। अगर प्यार लड़का और लड़की के बीच है तो उस प्यार भरे रिश्ते में एक दूसरे की खुशी चाहना प्यार है।
कई बार जब हम प्यार में होते हैं तो हम स्वार्थी हो जाते हैं हमें बस वो इंसान चाहिए होता है लेकिन उस इंसान की खुशी के लिए उसे हमसे दूर जाने देना प्यार है। अगर दो लाइन में कहा जाए तो जिंदगी में जो कुछ घटित होता है वो सब प्यार है। बस प्यार को देखने का नजरिया प्यार भरा होना चाहिए।

आप पड़ रहे थे What is Love in Hindi, अगर आप प्यार का सही उत्तर समझ गए हैं तो कमेंट में हमें ज़रूर बतायें! धन्यवाद् !

Tuesday, July 9, 2019

सबसे बड़ा पुण्य का काम होता है स्त्री के इस अंग को छूना

अगर असल में कोई सम्मान का हकदार होता है तो वह है स्त्रियां क्योंकि स्त्रियां बिना पैसे लिए अलग-अलग रूपों में हमारी सेवा करती हैं। स्त्रियों की सबसे बड़ी बात यह होती है कि स्त्री, पुरुष को तन, मन और धन से अपना मान कर उसकी हर परेशानी का समाधान करती है, लेकिन आज हम आपको स्त्रियों से जुड़ी हुई एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं, जिस को अपनाकर आप असल मायने में पुण्य की प्राप्ति कर सकते हैं और अपने सारे पाप मिटा सकते हैं।

  • कौन से अंगों को छूने से होती है पुण्य की प्राप्ति

स्त्रियों का अभिवादन करने के लिए स्त्रियों के चरण छूने की परंपरा सदियों से रही है। जब हम किसी आदरणीय व्यक्ति के चरण छूते हैं, तो आशीर्वाद के तौर पर उनका हाथ हमारे सिर के उपरी भाग को और हमारा हाथ उनके चरण को स्पर्श करता है। ऐसी मान्यता है कि इससे उस पूजनीय व्यक्ति की सकारात्मक ऊर्जा आशीर्वाद के रूप में हमारे शरीर में प्रवेश करती है। इससे हमारा मानसिक विकास भी होता है। अपनी मां बहन या बेटी के चरण स्पर्श और चरण वंदना करना भारतीय संस्कृति में सभ्यता और सदाचार का प्रतीक है।
दोस्तों मान्यता है कि बड़ी महिलाएं जैसे हमारी दादी, नानी और काकी के चरण स्पर्श नियमित तौर पर करने से कई प्रतिकूल ग्रह भी अनुकूल हो जाते हैं। आपको बताना चाहेंगे की जिन स्त्रियों के पैर छुए जाते हैं, उनके लिए शास्त्रों में कई तरह के नियम भी बनाए गए हैं।  दोस्तों चरण और आचरण दोनों शब्द ही एक दूसरे से मिलते जुलते हैं, इसीलिए जब भी आप किसी स्त्री के चरण स्पर्श करें तो ध्यान रहे कि उस स्त्री का आचरण अच्छा हो। जब आप किसी अच्छे आचरण वाली स्त्री के चरण स्पर्श करेंगे तभी आपको उस स्त्री से सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति होगी तथा आप पुण्य के भागीदार भी बनेंगे।