नए साल पर कांग्रेस से हुई बड़ी गलती, चुनावों में बड़े नुकसान की आशंका

जब-जब किसी प्रदेश की राजनीति में बदलाव आता है तब तब पुरानी नीतियों को बदला जाता है। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि असल में देखने को मिल रहा है। दरअसल हाल ही में कांग्रेस ने एक ऐसा बदलाव किया है जो हम सभी को 1 जनवरी 2019 को भी दिख गया था। जानकारों का मानना है कि कांग्रेस का यह बदलाव कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में मुश्किलों में डाल सकता है, आइए जानते हैं कांग्रेस के इस बदलाव के बारे में।
अगर आप मध्य प्रदेश के निवासी हैं तो आपको शिवराज सिंह चौहान के शासनकाल के बारे में तो पता ही होगा। शिवराज सिंह चौहान 15 सालों तक मध्य प्रदेश की सत्ता संभाली है और सत्ता संभालने के दौरान उन्होंने नीति बनाई थी जिसके अनुसार हर महीने की 1 तारीख को विधानसभा भवन के सामने पुलिस द्वारा बैंड बाजा बजाकर वंदे मातरम को गाया जाता था, भाजपा इसको देश भक्ति कहती थी।
लेकिन मध्य प्रदेश में सरकार बदलने के बाद जैसे ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद संभाला उन्होंने 2019 की 1 तारीख को शिवराज की इस नीति पर विराम लगा दिया। 14 सालों से चली आ रही इस नीति को समाप्त करने पर कमलनाथ को तमाम आलोचनाएं झेलनी पड़ रही हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी मुख्यमंत्री कमलनाथ को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले पर भाजपा को राजनीति करने का मौका मिल गया है।
मीडिया द्वारा जब इस मामले की पड़ताल की गई तो उन्होंने सबसे पहले भाजपा कार्यकर्ताओं को पकड़ा, जब कार्यकर्ताओं से वंदे मातरम सुना गया तो एक भी कार्यकर्ता पूरा वंदे मातरम तक नहीं सुना पाया। वैसे कुछ भी हो लेकिन सोशल मीडिया पर इस परंपरा को तोड़ने पर अब कांग्रेस को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। आपकी इस मामले पर क्या राय है कमेंट में हमें जरूर बताएं और फॉलो भी करें।

Disqus Comments