अवैध खनन पर अखिलेश को मिला माया का साथ, जानिए क्या कहा

दोस्तों जब जब अखिलेश और मायावती का नाम एक साथ लिया जाता है तब उत्तर प्रदेश में महागठबंधन की याद आने लगती है। महागठबंधन भाजपा के लिए एक सिर दर्द बना हुआ है, आपको तो पता ही होगा कि उत्तर प्रदेश में हुए उपचुनावों में सपा और बसपा के गठबंधन के कारण भाजपा को बहुत बुरी हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन हाल ही में यूपी की राजनीति में एक नया मोड़ आया था जिसके कारण सभी लोगों को यह लगने लगा था कि अब माया और अखिलेश का गठबंधन मुश्किल में पड़ सकता है।

अखिलेश पर अवैध खनन की जांच

यूपी में अवैध खनन को लेकर सरकार और सीबीआई का रवैया बेहद सख्त है, बता दें की अवैध खनन की आंच समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर आ गिरी है। मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार पता चला है कि अब सीबीआई अखिलेश यादव से भी इस केस को लेकर पूछताछ कर सकती है। वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अखिलेश यादव सीबीआई द्वारा पूछताछ को लेकर तैयार हो चुके हैं।

मायावती ने तोड़ी अपनी चुप्पी

जब तक यह मामला अखिलेश यादव से नहीं जुड़ा था तब तक इस मामले को इतनी गंभीरता से कोई नहीं ले रहा था, लेकिन जैसे ही सीबीआई द्वारा अखिलेश यादव से पूछताछ करने की खबर मीडिया को मिली, वैसे ही मायावती गुस्सा हो उठी। मायावती ने इस मामले को लेकर अखिलेश यादव से बात की, उन्होंने अखिलेश यादव से कहा है कि उन्हें सीबीआई जांच से घबराने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है। गठबंधन तोड़ने के लिए यह भाजपा की एक नई रणनीति है, जिससे डरना नहीं है और साथ मिलकर चुनाव लड़ना है।

बताया भाजपा की घिनौनी राजनीति

अखिलेश यादव से बातचीत के दौरान मायावती ने अखिलेश को संयम बरतने को कहा, अपनी बात रखते हुए मायावती ने अखिलेश से कहा कि भाजपा गठबंधन तोड़ने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। इस मामले को लेकर मायावती ने कहा कि यह भाजपा की घिनौनी राजनीति है। वैसे आपको क्या लगता है मायावती और अखिलेश के गठबंधन से यूपी के चुनाव में भाजपा पर कितना असर पड़ेगा। कमेंट में हमें जरूर बताएं और इस जानकारी को अधिक से अधिक शेयर करने के साथ-साथ हमें फॉलो करना ना भूले।

Disqus Comments