पीएम मोदी ने राम मंदिर पर दिया अब तक का सबसे बड़ा बयान, विपक्ष में छाई खुशी की लहर

दोस्तों राम मंदिर देश की राजनीति का एक अहम हिस्सा बन चुका है, तमाम राजनीतिक दल राम मंदिर को लेकर राजनीति करने से कतई नहीं चूकते हैं। चुनाव के दौरान राम मंदिर वोट बटोरने का एक अच्छा जरिया बनता जा रहा है। लेकिन हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर को लेकर एक बड़ा बयान दिया है, पीएम मोदी ने अपना यह बयान 2019 के पहले दिन मीडिया को एक इंटरव्यू में दिया है।

मोदी सरकार नहीं लाएगी अध्यादेश

नए साल पर एएनआई को दिए गए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने राम मंदिर को लेकर मोदी सरकार की नीति साफ कर दी है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार राम मंदिर के निर्माण के लिए कोई अध्यादेश नहीं लाएगी, उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण का फैसला अब देश के उच्च न्यायालय में ही होगा। उन्होंने कहा की अब देश के वकील ही राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश ला सकते हैं।

कांग्रेस पर हमला करने से नहीं चूके

राम मंदिर को लेकर उन्होंने कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकीलों के कारण राम मंदिर का मुद्दा देश के उच्च न्यायालय में धीमी गति से चल रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कांग्रेस के वकील चाहें तो राम मंदिर का मुद्दा जल्द से जल्द हल हो सकता है। लेकिन कांग्रेस के वकील ऐसा नहीं करना चाहते हैं क्योंकि वह इसका लगातार विरोध जताते रहे हैं।

नोटबंदी और जीएसटी को बताया सही

मोदी ने राम मंदिर पर बयान देने के साथ-साथ जीएसटी पर भी बयान दे डाला, उन्होंने इन दोनों को देशहित का फैसला बताया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण काला धन सरकार के सामने आ गया है। जीएसटी को लेकर उन्होंने कहा कि जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था में सुधार होगा, वैसे आपको क्या लगता है की नोटबंदी और जीएसटी सच में देश हित का फैसला था कमेंट में अपने अपनी राय जरूर दें।

Disqus Comments