क्रिकेट इतिहास में कभी नहीं टूटे ये रिकॉर्ड, आप भी जानिये

इंग्लैंड में शुरू हुआ क्रिकेट का खेल 141 साल से ज्यादा का हो चुका है, इन 141 सालों में क्रिकेट बहुत ज्यादा लोकप्रिय हुआ है। फुटबॉल के बाद अगर कोई खेल सबसे ज्यादा लोकप्रिय है तो वह 'क्रिकेट' ही है, अपनी लोकप्रियता के कारण अब क्रिकेट 100 से अधिक देशों में खेला जाने लगा है, लगभग क्रिकेट के हर खेल में कोई रिकॉर्ड बनता है या फिर कोई रिकॉर्ड टूटता है लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो क्रिकेट के इतिहास में अभी तक नहीं टूटे हैं।
sachin tendulkar viral video
जहां क्रिकेट की बात हो वहां क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का नाम ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता। इसलिए सबसे पहले बात करेंगे सचिन तेंदुलकर की, सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ की थी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सचिन की शुरुआत बहुत खराब रही थी, बाद में सचिन ने वो कर दिखाया जो किसी और क्रिकेट खिलाड़ी के लिए करना बहुत मुश्किल है।
god of cricket sachin tendulkar
सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया है जिसे तोड़ना मुश्किल है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी (टेस्ट, वनडे और टी-20) फॉर्मेट में कुल रनों की बात की जाए तो सचिन के नाम 34357 रन हैं। जिसे तोड़ना बहुत मुश्किल है। कोई सोच भी नहीं सकता था कि जिस खिलाड़ी ने अपने करियर की शुरुआत बेहद खराब तरीके से की थी बाद में वही खिलाड़ी ऐसा रिकॉर्ड बनाएगा।
virat and rohit
हाल फिलहाल में केवल विराट कोहली और रोहित शर्मा ही एक ऐसे बल्लेबाज हैं, जिनमें सचिन के इस बेहतरीन रिकॉर्ड को तोड़ने का दम है। लेकिन यह रिकॉर्ड कोई मामूली सा रिकॉर्ड नहीं है जो आसानी से टूट जाएगा इसीलिए दोनों खिलाड़ियों को इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए बहुत लंबा सफर तय करना होगा। वैसे क्रिकेट के खेल में वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाजी क्रिस गेल के नाम भी एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड दर्ज है।
west indies
क्रिकेट के प्रशंसकों को क्रिस गेल के खेलने का अंदाज बहुत अच्छा लगता है और अच्छा लगे भी क्यों ना 'क्रिस गेल' जब अपने रंग में खेलते हैं तो, रिकॉर्ड बनने में देर नहीं लगती। टी-20 क्रिकेट में क्रिस गेल के नाम सबसे तेज शतक जड़ने का रिकॉर्ड दर्ज है। गेल का यह शतक किसी भी फॉर्मेट में सबसे तेज शतक है। क्रिस गेल ने केवल 30 गेंद खेलकर शतक जड़ा था और इस पारी में उन्होंने 66 गेंद खेल कर नाबाद 175 रन बनाए थे। इस ऐतिहासिक पारी में 17 छक्के और 13 चौके शामिल थे।
मुथैया मुरलीधरन श्रीलंका के महान खिलाड़ियों में से एक हैं, श्रीलंका के इस लेग स्पिनर गेंदबाज 'मुथैया मुरलीधरन' के नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज है, जिसके बारे में वर्तमान समय में कोई गेंदबाज सोच भी नहीं सकता है। अपने करियर के दौरान मुरलीधरन ने 133 टेस्ट मैचों में कुल 800 विकेट झटके हैं। टेस्ट क्रिकेट में उनके इस रिकॉर्ड के आसपास भी कोई खिलाड़ी नहीं है। आज भी इस रिकॉर्ड को कोई नहीं तोड़ पाया है।
don bradman images
ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी डॉन ब्रेडमैन के नाम टेस्ट क्रिकेट में एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज है जिसका टूट पाना असंभव सा लगता है। अपने करियर के दौरान ब्रैडमैन के टेस्ट क्रिकेट का औसत 99.94 का रहा था। अगर वह अपने अंतिम टेस्ट मैच में 4 रन और बना लेते तो उनका औसत 100 के पार हो सकता था, लेकिन ऐसा करने में वह असमर्थ रहे। ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करियर के दौरान 52 मैच खेले और 6996 रन बनाए।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट में हमें जरूर बताएं और इसी तरह की मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरूर करें।

Disqus Comments