वक़्त किसी का मोहताज नहीं, वक़्त का कोई सरताज नहीं

ये वक़्त बड़ा ही तेज है ये किसी का ना हो पाया है, आज तेरा है कल मेरा है इसकी मार से ना कोई बच पाया है! वक़्त कोई खेल नहीं पर कितनो को खेल बनाया है, जो समझा है वक़्त को वक़्त पे वो सबसे ऊपर आया है।इस वक़्त की नादानी से नादान है लोग, ना जाने कितनो को कहा गया तेज़ी से निकलता वक़्त का रोग।

waqt kisi ka mohtaj nahi 

वक़्त ने ना जाने कितनों के चेहरों से बुराई का नकाब हटाया है, वक़्त ने खुद को बुरा बना कर रिश्तों में कौन है असली कौन है नकली, ये हर इंसान को बताया है! कभी अच्छा तो कभी बुरा ये हर रूप में आता है। जो हर वक़्त पे करे इसका सामना ये उसके आगे झुक जाता है।

hindi status

हाँ ये सच है बचपन में खेल के और पढ़ाई कर के वक़्त निकाल जाता था। उस समय थोड़ी समझ नहीं थी तो वक़्त को एक मजाक सा समझा जाता था! उम्र के साथ वक़्त भी तेज़ी से निकलता है, ये वक़्त का पहिया है जनाब ये हर कदम पे साथ चलता है।


अगर तुम्हें हराना इस वक़्त को इससे तेज भागो, सपने तुम्हरे है इसलिए उठो और भागो पर वक़्त थम जाए इसकी किसी से भीक ना मंगो। ये वक़्त का झूला है कभी तुझे उठाएगा कभी गिरायेगा, पर अगर तेरी ज़िद्द सच्ची है मंजिलों को पाने की, ये तेरे लिए रुक जाएगा।

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी इसीलिए आपसे निवेदन है कि इस जानकारी को सभी के साथ शेयर करें और हमें फॉलो भी करें।

This Article is the Property of V BloG.

Disqus Comments