Tuesday, October 23, 2018

अमृतसर हादसे में अनाथ हुए बच्चों और गरीबों को सिद्धू ने किया अडॉप्ट, उठाएंगे सारा खर्च

विजयदशमी के दिन पंजाब के अमृतसर में हुए दर्दनाक अरे हादसे में न जाने कितने मासूमों को अपनी जान गवानी पड़ी। इस रेल हादसे में कई खुशियां उजड़ गई और बहुत से मासूम अनाथ हो गए, इस हादसे पर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डॉक्टर नवजोत कौर सिद्दू पर कई लोग सवाल उठा रहे हैं लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू क्षेत्र में लगातार सक्रिय बने हुए हैं और पीड़ितों को मदद का भरोसा दिला रहे हैं।

इस बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बड़ा ऐलान किया है, पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने हादसे के कारण अनाथ हुए बच्‍चों और इससे प्रभावित गरीब परिवारों को गोद लेने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार अपने तौर पर पुनर्वास व सहायता की घोषणा करेगी। सिद्धू ने यह भी कहा कि सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह वाली कांग्रेस सरकार पीड़ितों की कितनी मदद करेगी इस बात की तो मुझे जानकारी नहीं है लेकिन मेरी तरफ से सहायता राशि अलग होगी।

मैं इस हादसे में अनाथ हुए बच्चों को गोद लेकर उनकी पढ़ाई और भविष्य का खर्च उठाने, उन्हें नौकरी दिलाने सहित गरीब परिवारों को आर्थिक सहायता दिलवाऊंगा। उन्होंने कहा कि सिद्धू मर सकता है लेकिन अपने वादे से कभी नहीं मुकर सकता। चाहे जान भी चली जाए, हादसे के कारण लाचार हुए लोगों के घर का चूल्हा सिद्धू के होते हुए सदैव जलता रहेगा। सिद्धू ने लोगों को भरोसा देते हुए वचन तक दे डाला।

सिद्धू ने हादसे को लेकर रेलवे पर कड़ी नाराजगी जताई, कहा कि इस हादसे को रोका जा सकता था। अगर रेलवे सही तरह से काम करता और लापरवाही ना दिखाता तो यह हादसा ना होता। इस तरह के हादसे पर राजनीति करना गलत है। हम अपनी तरफ से हरसंभव मदद करने का प्रयास करेंगे।

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, इसलिए मैं आपसे निवेदन करता हूं कि इस जानकारी को अधिक से अधिक शेयर करने का प्रयास करें और इस जानकारी को लाइक करने के साथ-साथ हमें फॉलो भी करें।

0 comments: