Tuesday, October 23, 2018

माया और मुलायम के चक्रव्यूह में फंसे मोदी, अब भाजपा का हारना लगभग तय

काफी सारी अटकलों के बावजूद जिसका सभी को इंतजार था आखिर वह पल आ ही गया, माया और मुलायम ने गठबंधन को लेकर अपना रवैया साफ कर दिया। आपको बता दें कि हाल ही में मायावती ने सीटों को लेकर एक बयान जारी किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि गठबंधन तभी होगा जब उन्हें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी।

जिस पर अखिलेश यादव ने जवाब देते हुए कहा था कि एक दो सीटें इधर-उधर हो जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा, लेकिन गठबंधन तो होकर रहेगा। दोनों पार्टियों के बीच बढ़ रही नज़दीकियों को देखकर तो यही लगता है की कहीं ना कहीं गठबंधन तो होकर रहेगा।वही दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर भाजपा के बड़े बड़े नेता तिलमिला उठे हैं और उल्टे सीधे बयान दे रहे हैं।

एक और जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गठबंधन को सांप और छछूंदर का गठबंधन कहा है, वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ने गठबंधन को अनैतिक घोषित किया है। अब देखने वाली बात यह होगी कि दोनों पार्टियां गठबंधन को लेकर किस विचारधारा से आगे बढ़ती हैं।

सपा और बसपा साथ मिल कर चुनाव लड़ेंगे। ऐसे में यूपी में प्रमुख रुप से 80 सीटों का बंटवारा सपा, कांग्रेस व बसपा के बीच होना है। कुल मिला कर स्थानीय नेताओं ने अपना दांव खेलना शुरू कर दिया है। इसका कितना फायदा होता है यह तो समय ही बतायेगा।

दोस्तों मेरा आपसे निवेदन है कि गठबंधन से जुड़ी इस जानकारी को अधिक से अधिक लोगों को शेयर करें और इस जानकारी को लाइक करना बिल्कुल भी मत भूलना।

0 comments: