Friday, October 26, 2018

मात्र इतनी सी कीमत में बिक रहा है पंजाब का यह गांव

पृथ्वी पर सर्वाधिक उपजाऊ क्षेत्र में जाने वाला पंजाब एक कृषि प्रधान राज्य है, यहां के निवासी औसत के आधार पर भारत के सर्वाधिक धनी लोग हैं। भारतीय पंजाब भारत का "अन्न भंडार" भी माना जाता है लेकिन इस "अन्य भंडार" के एक गांव की बुरी हालत के कारण वहां के लोगाें ने गांव को बिकाऊ घा‍ेषित कर दिया है।

दरअसल पंजाब और राजस्थान की सरहद पर बसे कोयला खुर्द गांव की हालत दयनीय है। लगभग चार हजार की आबादी वाला यह गांव आज अपनी बुरी हालत पर आंसू बहा रहा है। आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं की गांव की स्थिति इतनी नाजुक है जो वहां के लोगों को गांव को बिकाऊ घोषित करना पड़ा है।

दरअसल इस गांव के लोगों की जीवनी का मुख्य जरिया किसानी है। लेकिन समस्या यह है कि यहां का पानी खारा होने के कारण किसानी लायक नहीं है इसलिए यहां के किसान अपनी फसलों के पानी के लिए नहर पर निर्भर रहते हैं। इस वर्ष यहां की नहर में पानी ना के बराबर छोड़े जाने से फसलें और बाग सूख चुके हैं।

जमीन भी धीरे-धीरे बंजर होती जा रही है इसलिए यहां के लोग अपनी रोजी-रोटी चलाने के कारण दूर शहर में जाकर काम करने के लिए मजबूर हैं। मीडिया से बातचीत करते हुए यहां के लोगों ने बताया कि वह लोग अपनी सारी जमीन बेचने के लिए मजबूर हैं, उन्होंने जमीन की कीमत बताते हुए कहा कि अगर उनकी जमीन राष्ट्रपति खरीदते हैं तो 20 रुपये प्रति एकड़, प्रधानमंत्री खरीदते हैं तो 15 रुपये प्रति एकड़, मुख्यमंत्री 10 रुपये प्रति एकड़ और हलका फाजिल्का के विधायक खरीदते हैं तो 5 रुपये प्रति एकड़ तय की है।

गांव के लोग बताते हैं कि यहां से कई लोग पलायन कर चुके हैं और जो लोग अभी रह रहे हैं, वह बाहर से 300 रुपये प्रति टैंकर के हिसाब से पानी खरीद कर अपनी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। पानी की किल्लत और पैसों की कमी के कारण ग्रामीणों के बच्चों के रिश्ते टूट चुके हैं और कई टूटने के कगार पर हैं।

0 comments: