Thursday, October 25, 2018

क्रिकेट के इतिहास में कभी नहीं टूटे ये रिकॉर्ड, जानकर हो जाएंगे हैरान

दक्षिणी इंग्लैंड से शुरू हुआ गेंद और बल्ले का ये खेल 141 साल का हो चुका है, इन 141 सालों में क्रिकेट बहुत ज्यादा लोकप्रिय हुआ है। अपनी लोकप्रियता के कारण अब यह खेल 100 से अधिक देशों में खेला जाता है, लेकिन क्रिकेट के खेल में आंकड़े बहुत मायने रखते हैं, इन आंकड़ों के कारण ही बल्लेबाज और गेंदबाज इतिहास रचते हैं। अभी तक क्रिकेट के इतिहास में कई रिकॉर्ड बने भी हैं और कई टूटे भी हैं।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि क्रिकेट के खेल में आज भी कई रिकॉर्ड ऐसे हैं, जिन्हें आज तक कोई भी नहीं तोड़ पाया है। आज हम आपको उन्हीं के बारे में बताने जा रहे हैं। सबसे पहले बात करेंगे क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर की, सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया है जिसे तोड़ना मुश्किल है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी (टेस्ट, वनडे और टी-20) फॉर्मेट में कुल रनों की बात की जाए तो सचिन के नाम 34357 रन हैं। जिसे तोड़ना बहुत मुश्किल है।

वर्तमान में केवल विराट कोहली ही एक ऐसे बल्लेबाज है, जो सचिन की इस रिकॉर्ड को तोड़ने का दम रखते हैं, लेकिन विराट कोहली को भी सचिन के इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए काफी लंबा सफर तय करना होगा। वैसे क्रिकेट के खेल में वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाजी क्रिस गेल के नाम एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड दर्ज है।

टी-20 में क्रिस गेल के नाम सबसे तेज शतक जड़ने का रिकॉर्ड दर्ज है। गेल का यह शतक किसी भी फॉर्मेट में सबसे तेज शतक है। गेल ने केवल 30 गेंद खेलकर शतक जड़ा था, इस पारी में उन्होंने 66 गेंद खेल कर नाबाद 175 रन बनाए थे। गेल की इस ऐतिहासिक पारी में 17 छक्के और 13 चौके शामिल थे।

ऑस्ट्रेलिया के डॉन ब्रेडमैन के नाम टेस्ट क्रिकेट में एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज है जिसका टूट पाना असंभव सा लगता है। अपने करियर के दौरान ब्रैडमैन के टेस्ट क्रिकेट का औसत 99.94 का रहा था। अगर वह अपने अंतिम टेस्ट मैच में 4 रन और बना लेते तो उनका औसत 100 के पार हो सकता था, लेकिन वह ऐसा करने से चूक गए। ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करियर के दौरान 52 मैच खेले और 6996 रन बनाए।

श्रीलंका के लेग स्पिनर गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज है, जिसके बारे में वर्तमान समय में अंतरराष्ट्रीय गेंदबाज सोच भी नहीं सकते। मुरलीधरन ने अपने करियर के दौरान 133 टेस्ट मैचों में कुल 800 विकेट झटके। टेस्ट क्रिकेट में उनके इस रिकॉर्ड के आसपास भी कोई खिलाड़ी नहीं है।

0 comments: